You are here
Home > Entertainment > जै मानिलै माई

जै मानिलै माई

manila

संजय जैतवाल मानिला द्वारा रचित भजन जै मानिलै माई १३ मार्च को रिलीज़ हो गया है ! माई मेरी सुणीले पुकारा भजन जिसे यूट्यूब में बहुत पसंद किया जा रहा रहा है हिट हो चूका है
मां मनीला मंदिर एक पवित्र मनीला (शल्ट) में स्थित जगह है, का दिल है यह स्थान रामनगर से लगभग ७० किमी की दूरी पर स्थित है। इस क्षेत्र का एक प्रसिद्द मन्दिर है और हर वर्ष यहाँ दूर-दूर से लोग देवी के दर्शनों के लिए आते हैं। यह मन्दिर कत्यूरी लोगो की पारिवारिक देवी मानिला का मंदिर है। मन्दिर दो भागों में बँटा हुआ है जिसे स्थानीय भाषा में मल मानिला (ऊपरी मानिला) और तल मानिला (निचला मानिला) कहते है। प्राचीन मन्दिर तो तल मनीला में ही स्थित है लेकिन मल मानिला मन्दिर के पीछे की कहानी जो स्थानीय लोगो के बीच बहुत प्रचलित है वो ये हैं कि “एक बार कुछ चोर मानिला देवी की मूर्ति को चुराना चाहते थे। लेकिन जब वो मूर्ति उठा रहे थे तो उठा न सके और तब वे मूर्ति का एक हाथ ही उखाड़ कर ले गए, लेकिन उस हाथ को भी वे अधिक दूर ना लेजा सके।” और तबसे वही पर माता का एक और मन्दिर स्थापित कर दिया गया जिसे आज मल मानिला के नाम से लोग जानते है।
माँ मानिला के वैसे तो अनेको भक्त है उसमे से संजय जैतवाल भी है संजय जैतवाल को सही पहचान मानिला मैया के किर्पा से मिली है संजय जैतवाल उन सिंगर में से एक है जो अपने देवभूमि यहाँ की संस्कृति से जड़ से जुड़े है !
बहुत सुंदर भजन माँ मानिला का,नवरात्रि के आगमन पर माँ के चरणों में अर्पित इस भजन को ज़रूर सुनें

जै मानिलै माई
हमारा एकमात्र प्रयास है अपनी लोकसंस्कृति को विश्वभर में फैलाना। जय देवभूमि उत्तराखंड।
शेयर और कमेंट करना न भूले | शेयर करें ताकि अन्य लोगों तक पहुंच सके और हमारी संस्कृति का प्रचार व प्रसार हो सके ॥।
देवभूमि उत्तराखंड के रंग यूथ उत्तराखंड के संग🙏

Leave a Reply

Top
); ga('require', 'linkid', 'linkid.js'); ga('set', 'anonymizeIP', true); ga('set', 'forceSSL', true); ga('send', 'pageview');
error: Content is protected !!