You are here
Home > Culture > उत्तराखंड का लोक नृत्य – चाँचरी(झोड़ा)

उत्तराखंड का लोक नृत्य – चाँचरी(झोड़ा)

यह नृत्य, स्त्री-पुरुषों द्वारा किए जाने वाला एक सामूहिक नृत्य-गीत है।.यह उत्तराखंड के प्रमुख लोक नृत्यों में से एक हैं। कुमाऊं क्षेत्र में इस नृत्य को झोड़ा कहते है उत्तराखंड के कुमाऊँ क्षेत्र की झोड़ा चाँचरी बहुत ही प्रसिद्ध है।किसी भी शुभ कार्य के अवसर पर झोड़ा चाँचरी देखने को मिलती है। महिलाओं और पुरुषों का एक गोल घेरे में झूमते, कदमों से कदम मिलाते लोक वाद्य हुड़के की थाप पर लोकगीत गाना उत्तराखण्ड की संस्कृति का अभिन्न अंग है। कुछ क्षेत्रों में इस प्रकार के नृत्य को झोड़ा-चांचरी और कुछ जगह झुमेलो कहते हैं। लोक गीतों पर आधारित यह लोक नृत्य हंसी मज़ाक के साथ साथ लोक देवी देवताओं को समर्पित होते हैं।


कुमाऊं के ग्रामीण अंचलों में वार-त्यौहार, किसी धार्मिक अनुष्ठान, पूजा-समारोह में अपने लोक गीत-नृत्य करने की परंपरा है। जिसमें पुरुष और महिलाएं गोल घेरा बनाकर पारंपरिक गीत गाते हुए कदमों से कदम मिलाते हुए झूमते हैं यह महिला और पुरुषों द्वारा एक गोल घेरा बनाकर एक दूसरे के कंधों या कमर में हाथ रखकर एक ही ढंग से पाँव और स्वरों का तालमेल बनाकर धीरे धीरे नाच और लोकगीत गायन करना होता है। घेरे के बीच में एक या एक से अधिक कुछ लोग प्रमुख लोक वाध्य यंत्र हुड़का से गीत के धुनों को तान दी जाती है और यह बड़ा ही मनोहारी दृस्य होता है। झोड़ा-चाँचरी लगते तो एक जैसे हैं पर जहां झोड़ा नृत्य में हुड़का वादक द्वारा गीत के बोल पहले बोले जाते हैं और बाकीं लोग उसे दोहराते हैं वहीं चाँचरी में दो ग्रुप बन जाते हैं जिसमें से एक ग्रुप दूसरे के गीत के बोलों को दोहराता है। यह लोकगीत संबन्धित लोकदेवता के साथ साथ प्रेम प्रसंग, जीवन-शैली पर आधारित होते हैं। कहा जाता है कि कुमाऊँ के दानपुर क्षेत्र की ‘चाँचरी’ कुमाऊँ की धरती का सबसे आकर्षक नृत्य माना जाता है।
खोल दे माता खोल भवानी धार में किवाड़ा खोल दे माता खोल भवानी धार में किवाड़ा उत्तराखंड के लोक नृत्य-गीत है जिसे आप एक साथ किसी मेले में एक साथं या शादी समाहरोह में गाते और नृत्य करते हुए देखा होगा चाँचरी और झोड़ा उत्तराखंड की लोकसंस्कृति को दर्शाते हैं


आपको ये ब्लॉग पसंद आया हो तो `शेयर और कमेंट करना न भूले | शेयर करें ताकि अन्य लोगों तक पहुंच सके और हमारी संस्कृति का प्रचार व प्रसार हो सके ॥
अपने उत्तराखंड को और अच्छे से जानने के लिए और अपनी पहाड़ी संस्कृति से जुड़े रहने के लिए यूथ उत्तराखंड टीम से जुड़े रहे |
आप हमे फेसबुक (youthuttarakhand) ट्विटर (UthUttarakhand) यूट्यूब (youthuttarakhand) के माध्यम से जुड़ सकते है
उत्तराखंड से जुडी जानकरी आप हमे मेल के द्वारा भेज सकते है infoyouthuttarakhand@gmail.com
देवभूमि उत्तराखंड के रंग यूथ उत्तराखंड के संग🙏

Leave a Reply

Top
); ga('require', 'linkid', 'linkid.js'); ga('set', 'anonymizeIP', true); ga('set', 'forceSSL', true); ga('send', 'pageview');
error: Content is protected !!